सरपंच हनुमान राम फरड़ौदा
 

पिता के एक फोन ने ऑस्ट्रेलिया में लाखों की कमाई करने वाले हनुमान राम फरड़ौदा की किस्मत बदल दी। आज वो राजस्थान में नागौर जिला के फरड़ोद गांव के सरपंच हैं। वो इससे पहले तक ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में एक रिसोर्ट में नौकरी करते थे।
हनुमान ने कहा कि उनके गांव में पंचायत चुनाव होने थे और सरकारी नियम के मुताबिक इस चुनाव में लड़ने वाले उम्मीदवार कम से कम 8वीं पास होना जरूरी था। जबकि उनके गांव के दो तिहाई से ज्यादा लोग इस योग्यता को पूरा नहीं कर रहे थे। यहीं से इनकी लाइफ का टर्निंग प्वाइंट स्टार्ट हुआ।
हनुमान ने फोन आने की बात को बताते हुए कहा कि एक रात उनके पिता भूरा राम का फोन आया। पिता ने हनुमान काे बताया कि फरड़ोद गांव के लोग चाहते हैं कि वो भारत वापस आकर सरपंच का चुनाव लड़े।

हमें फेसबुक पर खोजें
वीडियो
समाचार

नागौर जिला के पंचायती राज का महा सम्मेलन फरड़ोद गांव में 15 मार्च को होगा

पिता के एक फोन ने ऑस्ट्रेलिया में लाखों की कमाई करने वाले हनुमान राम फरड़ौदा की किस्मत बदल दी।

पिता के एक फोन ने ऑस्ट्रेलिया में लाखों की कमाई करने वाले हनुमान राम फरड़ौदा की किस्मत बदल दी।